Explore these ideas and much more!

Explore related topics

सूरजपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रेक्षा गृह में संसदीय प्रणाली के बारे में जाना-समझा. यहाँ की संरचना, सत्र संचालन एवं व्यवस्था की जानकारी दी गई. सदन के भीतर जाने का मौका मिला, जहाँ उन्होंने सत्र के दौरान मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, पक्ष-विपक्ष की बैठक व्यवस्था के बारे में जाना. विधानसभा का भ्रमण कर वे बेहद गर्वित महसूस कर रहे थे.

सूरजपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रेक्षा गृह में संसदीय प्रणाली के बारे में जाना-समझा. यहाँ की संरचना, सत्र संचालन एवं व्यवस्था की जानकारी दी गई. सदन के भीतर जाने का मौका मिला, जहाँ उन्होंने सत्र के दौरान मुख्यमंत्री, विधानसभा अध्यक्ष, पक्ष-विपक्ष की बैठक व्यवस्था के बारे में जाना. विधानसभा का भ्रमण कर वे बेहद गर्वित महसूस कर रहे थे.

इमर्सिव डोम थियेटर में सरगुजा जिले से अध्ययन-भ्रमण के दौरान पहुंचे पंचायत प्रतिनिधियों ने देखी फाइव-डी. आधुनिक तकनीक से निर्मित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के संदेश का प्रसारण, गुंबद के आकार में बना आकर्षक डोम थियेटर, हाल में आरामदायक कुर्सियां और विशाल पर्दे पर गूंजती मुख्यमंत्री की प्रभावी आवाज से वे बेहद प्रसन्न हुए.

इमर्सिव डोम थियेटर में सरगुजा जिले से अध्ययन-भ्रमण के दौरान पहुंचे पंचायत प्रतिनिधियों ने देखी फाइव-डी. आधुनिक तकनीक से निर्मित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के संदेश का प्रसारण, गुंबद के आकार में बना आकर्षक डोम थियेटर, हाल में आरामदायक कुर्सियां और विशाल पर्दे पर गूंजती मुख्यमंत्री की प्रभावी आवाज से वे बेहद प्रसन्न हुए.

इमर्सिव डोम थियेटर में सरगुजा जिले से अध्ययन-भ्रमण के दौरान पहुंचे पंचायत प्रतिनिधियों ने देखी फाइव-डी. आधुनिक तकनीक से निर्मित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के संदेश का प्रसारण, गुंबद के आकार में बना आकर्षक डोम थियेटर, हाल में आरामदायक कुर्सियां और विशाल पर्दे पर गूंजती मुख्यमंत्री की प्रभावी आवाज से वे बेहद प्रसन्न हुए.

इमर्सिव डोम थियेटर में सरगुजा जिले से अध्ययन-भ्रमण के दौरान पहुंचे पंचायत प्रतिनिधियों ने देखी फाइव-डी. आधुनिक तकनीक से निर्मित मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के संदेश का प्रसारण, गुंबद के आकार में बना आकर्षक डोम थियेटर, हाल में आरामदायक कुर्सियां और विशाल पर्दे पर गूंजती मुख्यमंत्री की प्रभावी आवाज से वे बेहद प्रसन्न हुए.

रायपुर की लोकछाया संस्था की कलाकार श्रीमती छाया चंद्राकर और साथियों ने सांस्कृतिक संध्या में रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया. गणेश वन्दना से कार्यक्रम की शुरुआत की गई. छत्तीसगढ़ महतारी, का जादू डारे, मोर नैना म तैं ह आदि लोक-गीतों पर आकर्षक नृत्य पेश कर समां बांधा. जशपुर, रायगढ़, कोरिया एवं कोरबा जिले के पंच-सरपंचों ने देर शाम तक लोकगीतों का लुत्फ़ उठाया.

रायपुर की लोकछाया संस्था की कलाकार श्रीमती छाया चंद्राकर और साथियों ने सांस्कृतिक संध्या में रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया. गणेश वन्दना से कार्यक्रम की शुरुआत की गई. छत्तीसगढ़ महतारी, का जादू डारे, मोर नैना म तैं ह आदि लोक-गीतों पर आकर्षक नृत्य पेश कर समां बांधा. जशपुर, रायगढ़, कोरिया एवं कोरबा जिले के पंच-सरपंचों ने देर शाम तक लोकगीतों का लुत्फ़ उठाया.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रेक्षा गृह में सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रोजेक्टर पर विधानसभा सत्र की कार्यवाही का प्रसारण देखा. यहाँ उन्हें संसदीय प्रणाली से संबंधित हैण्डबुक दी गई. प्रतिनिधियों को सदन के भीतर ले जाया गया. जहाँ उन्होंने गर्भ गृह, वीआईपी दीर्घा, दर्शक दीर्घा के संबंध में जाना-समझा. सेंट्रल हाल में बैठकर कुछ देर विश्राम किया. विधानसभा भ्रमण करना उन्हें बेहद अच्छा लगा.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रेक्षा गृह में सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रोजेक्टर पर विधानसभा सत्र की कार्यवाही का प्रसारण देखा. यहाँ उन्हें संसदीय प्रणाली से संबंधित हैण्डबुक दी गई. प्रतिनिधियों को सदन के भीतर ले जाया गया. जहाँ उन्होंने गर्भ गृह, वीआईपी दीर्घा, दर्शक दीर्घा के संबंध में जाना-समझा. सेंट्रल हाल में बैठकर कुछ देर विश्राम किया. विधानसभा भ्रमण करना उन्हें बेहद अच्छा लगा.

सूरजपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधि पहुंचे इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय, जहाँ उन्होंने कृषि संग्रहालय का अवलोकन किया. घरेलू उपयोग में आने वाली पारम्परिक वस्तुओं का जायजा लिया और कृषि से संबंधित आधुनिक तकनीक के उपयोग के बारे में जाना-समझा.

सूरजपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधि पहुंचे इंदिरा गाँधी कृषि विश्वविद्यालय, जहाँ उन्होंने कृषि संग्रहालय का अवलोकन किया. घरेलू उपयोग में आने वाली पारम्परिक वस्तुओं का जायजा लिया और कृषि से संबंधित आधुनिक तकनीक के उपयोग के बारे में जाना-समझा.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रेक्षा गृह में सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रोजेक्टर पर विधानसभा सत्र की कार्यवाही का प्रसारण देखा. यहाँ उन्हें संसदीय प्रणाली से संबंधित हैण्डबुक दी गई. प्रतिनिधियों को सदन के भीतर ले जाया गया. जहाँ उन्होंने गर्भ गृह, वीआईपी दीर्घा, दर्शक दीर्घा के संबंध में जाना-समझा. सेंट्रल हाल में बैठकर कुछ देर विश्राम किया. विधानसभा भ्रमण करना उन्हें बेहद अच्छा लगा.

छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रेक्षा गृह में सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने प्रोजेक्टर पर विधानसभा सत्र की कार्यवाही का प्रसारण देखा. यहाँ उन्हें संसदीय प्रणाली से संबंधित हैण्डबुक दी गई. प्रतिनिधियों को सदन के भीतर ले जाया गया. जहाँ उन्होंने गर्भ गृह, वीआईपी दीर्घा, दर्शक दीर्घा के संबंध में जाना-समझा. सेंट्रल हाल में बैठकर कुछ देर विश्राम किया. विधानसभा भ्रमण करना उन्हें बेहद अच्छा लगा.

नया रायपुर स्थित नन्दन वन जंगल सफारी की सैर का सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने लुत्फ़ उठाया. विशाल क्षेत्रफल में स्थापित सफारी में बाघ, भालू, हिरण, नीलगाय एवं वन्य प्राणियों को खुले वातावरण में विचरते देख वे बेहद रोमांचित हुए. क्रोकोडायल पार्क में मगरमच्छ देखा. हरे-भरे जंगल की सैर कर वे बेहद प्रसन्न हुए.

नया रायपुर स्थित नन्दन वन जंगल सफारी की सैर का सरगुजा जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने लुत्फ़ उठाया. विशाल क्षेत्रफल में स्थापित सफारी में बाघ, भालू, हिरण, नीलगाय एवं वन्य प्राणियों को खुले वातावरण में विचरते देख वे बेहद रोमांचित हुए. क्रोकोडायल पार्क में मगरमच्छ देखा. हरे-भरे जंगल की सैर कर वे बेहद प्रसन्न हुए.

होलोग्राफिक थियेटर में सरगुजा जिले के पंच-सरपंचों ने जब रुपहले पर्दे पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को देखा, तो ऐसा लगा जैसे वे साक्षात् मंच पर मौजूद हैं. जनसम्पर्क विभाग द्वारा आधुनिक तकनीक से तैयार किए गए थियेटर में विकास एवं योजनाओं पर बात करते मुख्यमंत्री से वे बेहद प्रभावित हुए.

होलोग्राफिक थियेटर में सरगुजा जिले के पंच-सरपंचों ने जब रुपहले पर्दे पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को देखा, तो ऐसा लगा जैसे वे साक्षात् मंच पर मौजूद हैं. जनसम्पर्क विभाग द्वारा आधुनिक तकनीक से तैयार किए गए थियेटर में विकास एवं योजनाओं पर बात करते मुख्यमंत्री से वे बेहद प्रभावित हुए.

छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे बलरामपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने जाना कि विधानसभा सत्र के दौरान कार्यवाही कैसे चलती है, विधायक जनता के मुद्दों को पटल पर रखते हैं. प्रेक्षा गृह में अधिकारियों ने उन्हें यहाँ की संरचना एवं व्यवस्था की जानकारी दी. सदन को करीब से देखने का मौका मिला, जहाँ उन्होंने सत्र के दौरान पक्ष-विपक्ष की बैठक व्यवस्था के बारे में जाना. विधानसभा का भ्रमण कर वे बेहद खुश हुए.

छत्तीसगढ़ विधानसभा पहुंचे बलरामपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों ने जाना कि विधानसभा सत्र के दौरान कार्यवाही कैसे चलती है, विधायक जनता के मुद्दों को पटल पर रखते हैं. प्रेक्षा गृह में अधिकारियों ने उन्हें यहाँ की संरचना एवं व्यवस्था की जानकारी दी. सदन को करीब से देखने का मौका मिला, जहाँ उन्होंने सत्र के दौरान पक्ष-विपक्ष की बैठक व्यवस्था के बारे में जाना. विधानसभा का भ्रमण कर वे बेहद खुश हुए.

Pinterest
Search