Explore जुलाई 2016, July 2016 and more!

Explore related topics

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा देखी कुछ झलकियां।

कांकेर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा देखी कुछ झलकियां।

बस्तर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा देखी कुछ झलकियां।

बस्तर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा देखी कुछ झलकियां।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जनप्रतिनिधियों को हमर छत्तीसगढ़ का महत्व समझाया।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने जनप्रतिनिधियों को हमर छत्तीसगढ़ का महत्व समझाया।

नारायणपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा देखी कुछ झलकियां।

नारायणपुर जिले के पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा देखी कुछ झलकियां।

13-14 जुलाई 2016, साईंस सेंटर में आए कोण्डागांव, नारायणपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने रोचक एवं विस्मयकारी वैज्ञानिक प्रणालियों का आनंद लिया. थाली में सिर, अनन्त कुआं, अलग-अलग तरह के वाद्य यंत्र आदि आकर्षण का केंद्र रहे. मनोरंजक दर्पण विशेष रूप से महिलाओं को अपने-अपने लंबे एवं संकुचित प्रतिबिम्ब को दर्शाते हुए हास्यकारी साबित हुआ.

13-14 जुलाई 2016, साईंस सेंटर में आए कोण्डागांव, नारायणपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने रोचक एवं विस्मयकारी वैज्ञानिक प्रणालियों का आनंद लिया. थाली में सिर, अनन्त कुआं, अलग-अलग तरह के वाद्य यंत्र आदि आकर्षण का केंद्र रहे. मनोरंजक दर्पण विशेष रूप से महिलाओं को अपने-अपने लंबे एवं संकुचित प्रतिबिम्ब को दर्शाते हुए हास्यकारी साबित हुआ.

13-14 जुलाई 2016, कांकेर पंचायत जनप्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अलग-अलग विभागों में भ्रमण कर सिंचाई एवं कृषि से जुड़ी अन्य तकनीकों को समझा। विश्वविद्यालय परिसर में लगाई गई फसलों को उन्होंने रूककर करीब से देखा।

13-14 जुलाई 2016, कांकेर पंचायत जनप्रतिनिधियों ने इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के अलग-अलग विभागों में भ्रमण कर सिंचाई एवं कृषि से जुड़ी अन्य तकनीकों को समझा। विश्वविद्यालय परिसर में लगाई गई फसलों को उन्होंने रूककर करीब से देखा।

13-14 जुलाई 2016, साईंस सेंटर में आए कोण्डागांव, नारायणपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने रोचक एवं विस्मयकारी वैज्ञानिक प्रणालियों का आनंद लिया. थाली में सिर, अनन्त कुआं, अलग-अलग तरह के वाद्य यंत्र आदि आकर्षण का केंद्र रहे. मनोरंजक दर्पण विशेष रूप से महिलाओं को अपने-अपने लंबे एवं संकुचित प्रतिबिम्ब को दर्शाते हुए हास्यकारी साबित हुआ.

13-14 जुलाई 2016, साईंस सेंटर में आए कोण्डागांव, नारायणपुर जिले के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने रोचक एवं विस्मयकारी वैज्ञानिक प्रणालियों का आनंद लिया. थाली में सिर, अनन्त कुआं, अलग-अलग तरह के वाद्य यंत्र आदि आकर्षण का केंद्र रहे. मनोरंजक दर्पण विशेष रूप से महिलाओं को अपने-अपने लंबे एवं संकुचित प्रतिबिम्ब को दर्शाते हुए हास्यकारी साबित हुआ.

13-14 जुलाई 2016, नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे कोण्डागांव, नारायणपुर, कांकेर जिलों के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने साथ मिलकर नृत्यकर्ताओं की प्रस्तुति को जी भरके देखा. दिन भर के भ्रमण से जो कुछ चेहरे थके थे, ये प्रस्तुति देखकर जगमगा गए. मुक्तांगन की अनेक खूबसूरत कलाकृतियों में से एक, महिलाओं को अपनी ओर खींच लाया. इसमें बनाने वाले शिल्पकार ने एक माँ की ममता को दर्शाया है.

13-14 जुलाई 2016, नया रायपुर स्थित पुरखौती मुक्तांगन पहुंचे कोण्डागांव, नारायणपुर, कांकेर जिलों के पंचायत जनप्रतिनिधियों ने साथ मिलकर नृत्यकर्ताओं की प्रस्तुति को जी भरके देखा. दिन भर के भ्रमण से जो कुछ चेहरे थके थे, ये प्रस्तुति देखकर जगमगा गए. मुक्तांगन की अनेक खूबसूरत कलाकृतियों में से एक, महिलाओं को अपनी ओर खींच लाया. इसमें बनाने वाले शिल्पकार ने एक माँ की ममता को दर्शाया है.

13-14 जुलाई 2016, छत्तीसगढ़ के आदिम जाति, अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग, अल्प संख्यक कल्याण विकास तथा स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप से उनके निवास पर नारायणपुर और बस्तर जिले के विभिन्न पंचायतों के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की। श्री कश्यप ने पंचायत प्रतिनिधियों से उनके रायपुर और नया रायपुर के विभिन्न स्थानों के भ्रमण के अनुभव जाने। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से गांवों में राज्य शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन के बारे में भी जानकारी ली।

13-14 जुलाई 2016, छत्तीसगढ़ के आदिम जाति, अनुसूचित जाति विकास, पिछड़ा वर्ग, अल्प संख्यक कल्याण विकास तथा स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप से उनके निवास पर नारायणपुर और बस्तर जिले के विभिन्न पंचायतों के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की। श्री कश्यप ने पंचायत प्रतिनिधियों से उनके रायपुर और नया रायपुर के विभिन्न स्थानों के भ्रमण के अनुभव जाने। उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से गांवों में राज्य शासन द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन के बारे में भी जानकारी ली।

13-14 जुलाई 2016, बस्तर, नारायणपुर, कांकेर और कोंडागांव जिले से आए पंचायत जनप्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधान सभा भ्रमण के दौरान सभा की प्रणाली, समितियां, सचिवालय एवं सामान्य व्यवस्था को समझा। वे छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, कांकेर विधायक श्री शंकर ध्रुवा एवं विधान सभा प्रमुख सचिव देवेन्द्र वर्मा ने प्रतिनिधियों का राज्य सरकार की योजनाओं एवं विधान सभा के महत्व को समझाया। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/988182474613272

13-14 जुलाई 2016, बस्तर, नारायणपुर, कांकेर और कोंडागांव जिले से आए पंचायत जनप्रतिनिधियों ने छत्तीसगढ़ विधान सभा भ्रमण के दौरान सभा की प्रणाली, समितियां, सचिवालय एवं सामान्य व्यवस्था को समझा। वे छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, कांकेर विधायक श्री शंकर ध्रुवा एवं विधान सभा प्रमुख सचिव देवेन्द्र वर्मा ने प्रतिनिधियों का राज्य सरकार की योजनाओं एवं विधान सभा के महत्व को समझाया। https://www.facebook.com/hamarcg2016/posts/988182474613272

Pinterest • The world’s catalogue of ideas
Search